मेरी चुदक्कड़ बहन ने अपनी चुदासी सहेली मुझसे चुदवाई

कुछ दिन पहले मैंने इसी साईट के ऊपर आप लोगों को कार सिखाने के लिए बहन को गोदी में बिठाने की बात बताई थी! याद आया! अब उसी बात को थोडा और आगे बढाते हे! बहन को फिर तो मैंने अगले कुछ दिनों तक खूब चोदा. दीदी भी टाँगे ऊपर कर के लंड ले लेती थी मेरा. फिर एक दिन हम दोनों में  बातचीत हुई.

मैं: दीदी आप ने हम दोनों के बारे में किसी को बताया तो नहीं ना? दीदी: सच कहूँ तो एक को बताया हे! मैं: क्या मतलब किसी को बताया हे, पागल हो तुम, साला सब प्रॉब्लम होगा! दीदी: अरे सुनो तो मैंने ये नहीं बताया की हम सेक्स करते हे!

मैं: फिर क्या बोला हे तुमने? दीदी: मैंने अपनी एक ख़ास सहेली को बोला की हम दोनों ओरल करते हे महीने में एक दो बार बस. मैं: दीदी तुम भी पागल हो, अब वो किसी को बता देगी तो इज्जत का भाजी पाला हो जाएगा. दीदी: अरे बाबा वो किसी को नहीं कहेगी, वो मेरी बेस्ट फ्रेंड से स्कुल के दिनों से. तुम भी उसे जानते ही हो.

मैं: कौन प्रिया?

दीदी: हाँ!

मैं: यार कम से कम उसे एक बार बोल दो की किसी के आगे भी इस टॉपिक को ना छेड़े. साला मैं तो काँप रहा हूँ.

दीदी: अरे बाबा इतना क्यूँ डरते हो तुम.

मैं: दीदी मैं सिर्फ आप के लिए ही डर रहा हूँ. जीजे को पता चला तो गांड में गोली मारेगा और डिवोर्स देगा वो अलग से!

वो बोली: सोरी लल्लन जो हो गया सो हो गया अब इतना भी मत बिगडो.

फिर दीदी मेरे पास आई और उसने अपने टॉप को ऊपर कर के अपनी एक चुन्ची निकाल के मेरे मुहं में भर दी. मैं उसके निपल्स को सक करने लगा. दीदी ने कहा, चलो अन्दर.

फिर उसके कमरे में मैं उसे चोद रहा था तब फिर से प्रिया की बात निकली.

मैं: वैसे तो प्रिया भी एकदम कडक माल हे दीदी!

दीदी: हाँ सच में.

ये कहते हुए दीदी ने मुझे आँख मारी. मैंने अपने लंड के झटके उसकी चूत में बढ़ा दिए. दीदी भी उछल उछल के लंड लेती गई. 10 मिनिट के बाद मैंने लंड का पानी उसके बुर में छोड़ा और हम नंगे एक दुसरे से लिपटे हुए थे.

दीदी: एक काम करते हे.

मैं: क्या?

दीदी: प्रिया को हमारे साथ थ्रीसम में मिला लेते हे, फिर वो किसी को कहने की हिम्मत करेगी ही नहीं!

मैं: तो क्या तुम्हे डाउट हे की वो किसी को कहेगी! थ्रीसम में लेंगे तो साली को नहीं पता हे वो सब भी पता चल जाएगा ना.

दीदी: देखा तुम फिर से बिगड़ गए. वो किसी को बताने के लायक ही नहीं रहेगी ना. तुम्हारा पेनिस ले लेगी फिर!

मैं: तुम उसे राजी कैसे करोगी?

दीदी: वैसे मैंने हमारी बात करी थी उसे तो वो उत्सुक सी थी एकदम. इसलिए अगर मैं कहूँगी की मेरा भाई तुम्हारे साथ थ्रीसम के लिए रेडी हे तो वो शायद तो मना नहीं करेगी. और अगर वो मान गई तो हमें भी कुछ नया करने को मिलेगा ना!

मैं: साला ये सब आइडिया तुम्हारे दिमाग में कैसे आने लगे?

दीदी: भाई पोर्न तुम अकेले थोड़ी देखते हो!

अब भला मैं कैसे मना कर सकता था. मुझे तो बहन के साथ उसकी हॉट सहेली को भी चोदने का मौका मिल रहा था. मैंने दीदी को कहा आप बात करो प्रिया से और उसे ले आओ घर पर. दीदी ने कपडे पहन लिए और फिर मैं भी निकल गया कमरे से.

दुसरे दिन दीदी बोली: लल्लन एक गुड न्यूज हे भाई!

मैं: क्या हुआ अब?

दीदी: उसने हाँ कह दिया!

मैं: सच.

दीदी: मुच!

मैंने दीदी को वही गले से लगा लिया और उसे चूमने लगा. वो बोली अरे पागल यहाँ पर नहीं.

फिर दीदी बोली: लेकिन उसे नहीं बुलाएँगे ठीक हे. एक कमरा ले लेंगे  हम लोग.

मैंने कहा: कमरा क्यूँ?

वो बोली, ऐसे ही सेफ्टी के लिए, अरे हाँ रुको कुछ 3 4 दिन में उसके पेरेंट्स वैसे भी अमरिका जा रहे हे, कमरे की जरूरत नहीं हे. उसके घर पर वो और उसकी बुआ ही होगी. बुआ को पढ़ाई के बहाने निचे बिठा के हम ऊपर चोद सकते हे.

प्रिया अभी पढ़ रही थी, दीदी ने पढ़ाई छोड़ दी थी लेकिन वो उसकी बुआ को पता नहीं था.

और फिर उसी शाम को दीदी ने हम तीनो का एक व्हाट्सएप्प ग्रुप बनाया जिसमे गंदे जोक्स, शायरी और हॉट क्लिप्स एड होने लगे. हम लोग रोज रात को ग्रुप सेक्स चेट भी करते थे. प्रिया की उभरती हुई जवानी को देख के एक एक दिन निकालना मुश्किल सा हो रहा था अब तो. प्रिया भी कुछ दिन में इजी हो गई हमारे साथ और वो भी रांड, छिनाल, लंड चूत, भोसड़ा, प्रिक जैसे शब्द बोलने लगी थी.

उसके पेरेंट्स के जाने के बाद प्रिया ने चेट में बताया की वो लोग चले गए तुम लोग कब आ रहे हो मेरे घर?

दीदी: डार्लिंग, हम लोग शाम को 4 बजे आयेंगे मेरे भाई की कुछ क्लास हे वो ख़त्म कर के हम दोनों सीधे ही तेरे घर तुझे छिनाल बनाने के लिए आयेंगे.

प्रिया: (स्माइली के साथ) आजा मेरी रांड अपने सेक्सी भाई को ले के!

क्लास के बाद मैंने मेसेज देखे और दीदी को कॉल लगाया. वो बोली मैं घर पर हूँ तू मुझे आ के पिक कर ले. मैं बोला ठीक हे और फिर मैं बाइक ले के सीधे घर गया. दीदी रेडी ही थी. हम लोग निकले तो दीदी ने धीरे से पूछा: लल्लन कंडोम लिए की नहीं?

मैं: ओह शिट, भूल गया, रुको नुक्कड़ पर मेडिकल हे वहां से ले लेता हूँ.

दीदी: मुझे यही उतार के ले आ, बहन के साथ कोई कंडोम लेने जाता हे पागल.

मैं कंडोम ले के आया.

प्रिया हम लोगों की ही वेट में थी. वो हमें देख के बोली: अरे आओ दोनों.

फिर उसने मेरी दीदी को हग किया और उसके गालों पर किसी दे दी. और मुझे हाथ मिलाने के लिए हाथ दिया. मैंने हाथ को प्यार से दबा के उसे चूम लिया. उसने फट से हाथ खिंच लिया!

अंदर जा के सोफे पर बैठ के उसने कहा: तुम लोग क्या लोगे?

दीदी बोली: मैं सिर्फ पानी लुंगी!

मैं कहने को ही था की मैं तुम्हे लूँगा प्रिया! पर मैं भी कहा सिर्फ पानी!

पानी पिने के बाद दो मिनिट तक सिर्फ सन्नाटा सा था. फिर मेरी दीदी ने सन्नाटे को तोडा, चलो जो करना हे वो कर लें जल्दी जल्दी से.

वो दोनों हंस पड़ी.

प्रिया बोली: उपर मेरे बेडरूम में चलते हे.

प्रिया मेरे आगे चल रही थी. मैंने चलते चलते उसकी और मेरी दीदी की गांड को बहुत बार टच किया. ऊपर कमरे में घुसते ही प्रिया और मेरी बहन ने एक दुसरे को किस की और बूब्स मसलने लगी. शायद वो ये सब पहले भी कर चुकी थी ऐसा लगा मुझे. वो दोनों पांच मिनिट तक एक दुसरे की चूमती और बूब्स से खेलती रही. और फिर अलग हुई. मेरी दीदी ने अपनी टी-शर्ट निकाली और ब्रा भी उतारी उसने. प्रिया ने भी ऐसा ही किया. वाऊ. प्रिया के बूब्स एकदम बड़े गोल और सेक्सी लग रहे थे. मैं रुक नहीं पाया और उसके पास जा के सीधे उसके बूब्स को अपने मुहं में भर लिया. मेरी बहन ने प्रिया की जींस के बटन को खोला और निचे खिंच लिया. और फिर उसने अपनी पेंट भी खोल दी. वो दोनों सेक्सी लग रही थी अपनी पेंटी में. फिर दीदी निचे बैठी और प्रिया की चूत के ऊपर पेंटी के ऊपर से ही चुम्मा दे दिया उसने. मैंने दोनों को खड़ी कर के पेंटी उतार दी. वो दोनों मेरे सामने एकदम नंगी थी. दीदी को तो बहुत नंगा देखा था आज प्रिया के ऊपर इसलिए मेरी नजर बार बार जा रही थी.

फिर दीदी मेरे पास आई और मेरे शर्ट के बटन खोलने लगी. प्रिया मेरे पेंट के जिप को और बटन को खोल रही थी. और फिर इन दो सेक्सी लड़कियों ने मुझे नंगा कर दिया. प्रिया ने मेरे लंड को देखा और वो एकदम से फुदक उठी और खुश लगी. उसने जरा भी वक्त गवाएं बिना सीधे मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़ा और उसे अपने होंठो से लगा के चूसने लगी. और उसके साथ मेरी बहन भी लग गई लंड चूसने में. वो दोनों एक एक कर के मेरे लंड को चूस रही थी और मेरे बॉल्स को भी लिक कर रही थी.

फिर मैंने प्रिया को बिस्तर में लिटा दिया और अपना लंड घुसाने को ही था की दीदी बोली, अरे कंडोम तो लगा ले भाई!

मैंने हंस के अपने लंड पर कंडोम पहना. और प्रिया ने मेरे हाथ को पकड़ के सही जगह पर सेट कर दिया. एक धक्के से मैंने लंड को अन्दर करना चाहा. प्रिया की चूत बड़ी ही टाईट थी. दीदी ने बोला था की उसने सात आठ महीने से सेक्स नहीं किया था अपने बॉयफ्रेंड से ब्रेकअप के बाद शायद इस वजह से उसकी चूत फिर से टाईट हो गई थी.

मैंने जोर जोर के धक्के दे के प्रिया को चोदना चालू कर दिया. और जैसे जैसे मेरी स्पीड बढ़ी वैसे वैसे उसकी साँसे फूलने लगी थी. वो आह आह कर रही थी और मेरे लंड के डंडे को अपनी बुर में हिलवा रही थी. मेरी दीदी ने प्रिया के होंठो पर किस किया ताकि वो चुदाई के दर्द को सह सके. मैं भूखे भेडिये की तरह प्रिया की चूत को 10 15 मिनिट तक ऐसे ही चोदता गया. उसके बाद मैं दीदी की टाँगे उठा के अपने कंधे पर रखवा दी. और उसकी चूत में पांच मिनिट जैसे अपने लंड को हिला दिया. मैंने फिर दीदी को कुतिया बना के पीछे से अपना लंड दिया. और तब वो अपने मुहं से प्रिया की चूत चाटने लगी. बड़ा ही सेक्सी सिन था वो! फिर मैंने अपनी बहन की चूत से लंड निकाला. और प्रिया को खड़ा कर दिया वाल पकड़ के. मैंने खड़े खड़े उसकी चूत को चोदी. और वो भी अपनी गांड को हिला के ऐसे लंड ले रही थी जैसे वो चुदाई के सब हुनर में माहिर हो.

फिर मैंने अपने कंडोम को उतारा और प्रिया की वर्जिन गांड को चोदने की इच्छा दिखाई. वो रेडी ही थी पीछे लेने के लिए भी. मैंने अपने लंड को दबा के अन्दर किया. पहले पहले उसे बहुत दर्द हुआ. लेकिन फिर वो जोर जोर से कुल्हे मटका के गांड मरवाने लगी.

कुछ देर में तो प्रिया की चुदाई की आग को मैंने अपने लंड से शांत कर दिया. लेकिन मेरी दीदी अभी भी प्यासी रह गई थी. फिर मैंने दीदी को सीजर पोस में लिया और 10 मिनिट उसे खूब चोदा. प्रिया ने सिगरेट जलाई और वो धुंआ निकालते हुए हम दोनों भाई बहन को चोदते देखने लगी.

मेरा वीर्य निकल के अभी दीदी के भोसड़े में ही समाया था की माँ का कॉल आ गया. दीदी ने कहा प्रिया के घर आई हूँ माँ, कुछ काम हे इसलिए. आधे घंटे के बाद आउंगी मैं भाई को बोल दूंगी वो मुझे ले जाएगा. अब माँ को भला कौन बताये की भाई ही तो उसको कब से चोद रहा था.

प्रिया बहुत खुश हुई आज की इस मस्त चुदाई से. उसने दीदी को कहा मेरे पेरेंट्स डेढ़ महीने तक वही हे. बुआ दोपहर को सोती हे तो लेट इवनिंग तक सोयी रहती हे. दीदी ने कहा, घबरा मत मेरी जान भाई को जब भी टाइम हुआ तो मैं तेरा भोसड़ा उस से चुदवा दूंगी. प्रिया ने मुझे एक लिप किस दिया और फिर हम लोग वहां से निकल गए!

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age


Online porn video at mobile phone


lesbian hindi storymaa bete ki suhagratpeshab wali chudai kahanibhabhi ko choda bus meकपल को अजनबी से चुदवानाsex history hindi सर्दी मे माँ को चोदाarti ki chootgangbang ki kahanibahu ne sasur ko patayanew incest stories in hindihindi sex photo comलंड और चूत के बार मे बातओwife swapping stories in hindisex stiry eritic seduce kiya nakhretuition teacher ko chodakachi chut ki kahanidadi ko chodabhabhi ko train me chodamaa ki malish kr salwar Khali chudai sex storytop hindi sex storyanyarvasna comsarpanch ka chunav Mai patni ki chudai hui sex stories antarvasna baap beti ki chudaihindichudasibhabhichachi sex kahaniantarbasna.sasumasexy porn stories in hindisex story sasurmummy ki gand mariritu ki gand mariafrican ne chodaसालू.और.रशमी.की.चुदाईxxx sex story hindierotic stories in hindi fonthindi mein sexy storyकपल को अजनबी से चुदवानाchudai story in hindi fonthawas ki kahanisasur se chudwayaindian sexy story in hindiहिंदी सेक्स स्टोरीhindi sexy story websitegangbang ki kahanigand marvaiबूढी मकान मालकिन की चुदाई की कहानियाँmom ko nehaty dakh muth mara sex kahaninani ki chutमाँ को बातो से गरम करके चोदाhindi sexy storehindi chudai ke jokesnew sex storysaasu maa ko chodaगोवा में गोरा से छुट मरवै कहानीदूध वाले ने चोदा दियाbiwi ki chudai dost seBlackmail karke virgin didi ko chodapaisekeliye bibiko chudvayamarwadi sexy storysex kahani with picsनई हिंदी आंटी बी सेक्स विbahu ne sasur ko patayalatest sex kahaniyaSexse story maa bahu bahan sab ki sab randiya part 2-3-4 hindiuntervasna comबीवी के साथ थ्रीसम सेक्स मारी नई कहानी 2019hindi gangbang storieswww antarvasna sex stories comsex stories allvidhwa ki chudai storyvarsha ki chudai