चाचा के वहाँ शादी में देसी लड़की की चूत मारी

हाय दोस्तों मैं भी आप के जैसे ही सेक्स की कहानियाँ पढने का सौकीन आदमी हूँ. मैं 26 साल का हूँ और मेरा नाम जीतू हे मैं हरयाणा के हिस्सार का रहने वाला हूँ. मेरे लोडे की लम्बाई 6 इंच और चौड़ाई करीब 2 इंच हे. अब मैं आप को सीधे ही कहानी पर ले के चलता हूँ जो आज से 6 साल पहले हुई थी. तब मैं 20 साल का था.

ये बात मेरे चाचा के लड़के की यानी की मेरे कजिन भाई की शादी की हे. मेरे चाचा शहर में रहते हे लेकिन उनका घर बहुत छोटा हे. घर में बहुत सारे महमान आये हुए थे. उनमें से एक लड़की भी थी मस्त मोटे मोटे बूब्स और गदराये बदन की. वो राजस्थान से आई थी. जब मैंने पहली बार उसे देखा तो निचे मेरी पेंट के अन्दर एक तम्बू बन गया.

फिर मेरी और उसकी नजर मिली तो मैंने हलकी सी स्माइल दे दी तो उसने भी थोडा स्माइल दिया.  हाय रे क्या स्माइल थी उसकी मे तो बस उस पर फ़िदा ही हो गया था. शाम को वो छत पर अकेली खड़ी थी. फिर मौका देख कर मैं उसके पास गया और उस से बातें करने लगा. इस लड़की ने अपना नाम गुड्डो बताया.

बात बात में पता लगा की वो ज्यादा पढ़ी नहीं हे. राजस्थान के एक छोटे से विलेज से थी वो और उसने मिडल में ही पढ़ाई छोड़ दी थी. मैंने मन ही मन में सोचा फिर तो गुड्डो को चोदने का चांस जल्दी ही हाथ लगेगा. मैं इस देसी लड़की को अब बस जल्दी से जल्दी चोदना चाहता था. बातें करते हुए मैं उसके बूब्स को ही देखता था.

ऐसे करते हुए उसने मुझे देख लिया था पर वो कुछ बोल नहीं रही थी. बस वो हलकी हलकी सी स्माइल दे रही थी. मेरी तो हालत खराब हो रही थी. निचे पेंट में बुरा हाल हुआ पड़ा था. मैं लंड को दीवार के साथ छिपा रहा था. बात करते करते मैंने इस लड़की के कूल्हों को टच कर लिया. वाऊ क्या चिकनी गांड थी यार इस देसी लड़की की!

फिर मैंने बात को आगे बढाने के लिए उसकी तारीफ़ करना चालू कर दिया की तुम बहुत खुबसुरत हो, साला तभी निचे से मेरी चाची ने गुड्डो को आवाज लगाईं और वो चली गई. फिर मुझे पता चला की वो चाची के कजिन भाई की लड़की हे.

ऐसे ही रात हो गई और वक्त आया जिसका मुझे इंतजार सा था मतलब की सोने का टाइम. जैसे की मैंने बताया था की मेरे चाचा का घर छोटा था तो सब को निचे बिस्तर पर सोना पड़ा. तो मैं भी वो बिस्तर लगा के सो गया. मेरी किस्मत ने मेरा खूब साथ दिया तो गुड्डो भी मेरे बराबर में आकर ही बिस्तर लगा के लेट गई. थोड़ी देर में काफी लोग और भी आये तो मेरी तरफ खींचती चली गई.

धीरे धीरे कर के सब लोग सोने लगे लेकिन मेरी आँखों में जरा भी नींद नहीं थी. मुझपे तो बस चुदाई का भूत सवार था. लेकिन कैसे चोदुं डर भी लग रहा था. करीब 2 घंटे के बाद मैंने हिम्मत की और गुड्डो के ऊपर अपने हाथ रख के हिलाया ये चेक करने के लिए वो सो रही या जाग रही हे. लेकिन वो हिली भी नहीं. मेरी हिम्मत बढ़ गई और मैंने अपने हाथ को इस देसी लड़की के बूब्स के ऊपर रख दिया. क्या मस्त नर्म नर्म गोल मटोल चुन्ची थी उसकी यारो. मैं मन ही मन सोचने लगा की यार पूरा बदन कितना मस्त होगा इस लड़की का.

थोड़ी देर इस लड़की की चूची दबाने के बाद जब वो नहीं जागी तो मेरी हिम्मत और भी बढ़ गई. मैंने अपना हाथ धीरे से उसके पेट पे लगाया और धीरे से उसका स्यूट ऊपर किया और नंगे पेट पर हाथ घुमाने लगा. अँधेरे में कुछ भी नहीं दिख रहा था बस उसका बदन की नरमी मुझे और भी गरम कर रही थी.

मैंने धीरे धीरे हाथ को स्यूट के अंदर डाल के ऊपर बढाया और उसके चुचों को ब्रा के ऊपर से ही दबाने लगा. अब मुझे लगा की वो जाग रही हे लेकीन सोने की एक्टिंग कर रही हे. मेरी हिम्मत और भी बढ़ गई तो मैंने हाथ को सीधा अपने असली टार्गेट के ऊपर यानी की उसकी चूत के ऊपर रख दिया.

लेकिन इस बार इस लड़की ने मेरा हाथ पकड़ लिया, यारो मेरी ऊपर की सांस ऊपर और निचे की सांस निचे ही रह गई. मैं बहुत डर गया था की अब क्या होगा! लेकिन उसने किसी को कुछ नहीं बोला, मेरी हिम्मत फिर से बढ़ी. इस बार मैंने हाथ धीरे से चूत पर रखा और अब उसने कुछ नहीं कहा मुझे लगा वो सो रही थी. मैं धीरे धीरे से चूत से खेलने लगा. यारो मैं तो जन्नत के दरवाजे पर खड़ा था बस इन्तजार था इस दरवाजे के खुलने का!

अब मुझे लगा की उसकी साँसे भी तेज हो रही थी और पेट भी तेज तेज से ऊपर निचे हो रहा था. ये मेरेलिए अच्छे संकेत थे तो मैंने भी मौके का फायदा उठाया और धीरे से उसकी सलवार को पैरो से ऊपर की तरफ सरका दिया. धीरे हीरे सलवार जांघो तक आ गई. मैंने उसकी मस्त नरम जांघो को सहलाया तो वो अब मेरे पास होने लगी. मेरी हिम्मत और भी बढ़ गई मैंने जल्दी से उसकी सलवार का नाडा खोला और फटाफट सलवार और पेंटी को निचे कर दिया. उसने मेरे हाथो को पकड़ के ऐसे करने से जैसे रोका मुझे.

लेकिन मैं अब कहाँ रुकने को था. अँधेरी रात थी और उसके बदन के ऊपर चद्दर थी. कोई देखता तो भी जल्दी से कुछ दीखता नहीं. मेरे लिए इस देसी लड़की की चूत यानी की मेरी जन्नत का दरवाजा खुल गया था. मैंने जल्दी से हाथ को नंगी चूत के ऊपर रख दिया. मेरे हाथ रखते ही वो सिहर उठी. और मुझसे लिपट गई. मैं उसके नंगे बदन को देखना चाहता था बट अँधेरे में कुछ भी नहीं दिख रहा था मुझे. मुझे फिर मैंने सोचा बदन तो फिर भी देख लूँगा एक बार चोदना नसीब जो जाए तो बस हे.

फिर मैंने उसकी नंगी चूत जिसके ऊपर हलके हलके बाल थे लेकिन बड़ी टाईट थी वो, उसे धीरे धीरे से हिलाई. चूत के दाने को सहलाना स्टार्ट कर दिया मैंने तो वो मेरे हाथ को नाख़ून मारने लगी. इधर मेरा लंड का बुरा हाल हो रहा था. मैंने धीरे से अपनी पेंट और चड्डी को निचे सरकाया और उसके हाथ में अपने लंड को थमा दिया. लेकिन उसने जल्दी से हाथ को दूर कर दिया. हम आपस में बात नहीं कर रहे थे लेकिन बात तो बस हमारे हाथों से और क्रियाओं से हो रही थी. मैंने इस देसी लड़की की चूत को सहलाना चालू रखा.

थोड़ी देर के बाद इस सेक्सी लड़की का हाथ अपनेआप ही मेरे लंड पर आ गया और वो मुझसे लिपट भी गई. मैंने जल्दी से उसके गालों के ऊपर किस की और फिर उसके नर्म मीठे होंठो को चूसने लगा. वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी. मैंने निचे अपना काम जारी रखा था. अब मैंने धीरे से ऊँगली को चूत में डालनी स्टार्ट कर  दी और मेरी ऊँगली अंदर चूत में आराम से घुस गई. मैं समझ गया की गुड्डो पहले भी चुदवा चुकी हे किसी से. खेर मुझे थोड़ी उसे बीवी बनाना था मैं तो बस बहती गंगा में हाथ धोने आया था.

फिर मैंने देर ना करते हुए उसको दूसरी तरफ घुमाया और उसकी गांड को अपने पास में खिंचा. ऐसा करने से उसकी चूत बहार को आ गई तो मैंने भी टाइम वेस्ट न करते हुए लंड को चूत पर घुमाना चालू कर दिया और फिर मैंने सोचा की क्यूँ ना गुड्डो को थोडा तडपाया जाए!

मैं बस लंड को चूत पर रगड़ रहा था. थोड़ी देर बाद जब उस से बर्दाश्त नहीं हुआ तो उसने अपने हाथ में लंड को पकड़ के चूत के छेद पर रखा और पीछे की तरफ जोर लगाया. बस फिर क्या था मेरा लंड जन्नत में एंटर कर गया. और ये जन्नत उस वक्त जहन्नम के जैसी आग उगल रही ही. ये मेरे लिए पहली बार था तो मुझे जो आनंद मिला तो मैं आप को किसी भी तरह के शब्दों में नहीं बता सकता हूँ.

अब मैंने भी देर ना करते हुए मोर्चा सम्भाला चुदाई का. और दोनों हाथो से उसकी गोल गांड को पकड़ा और लंड को दे दना दन उसकी चूत में पेलने लगा. क्या बताऊँ यारो कितना सुकून मिल रहा था मुझे! उसे भी खूब मजा आ रहा था क्यूंकि वो भी हर धक्के के साथ गांड को पीछे धकेल कर साथ दे रही थी मेरा.

मैंने करीब 15 मिनिट तक गुड्डो की चुदाई की और इस बिच में वो दो बार मेरे लंड के ऊपर ही झड़ गई. मैंने भी अपना सारा माल उसकी चूत में ही छोड़ दिया मस्त चुदाई के बाद. फिर मैंने धीरे से लंड को इस देसी लड़की की चूत से निकाल लिया. मैंने उसके कान के ऊपर होंठो को लगा के उसे थेंक्स कहा इस हसींन सेक्स के लिए. वो भी मुझसे लिपट गई और उसने होंठो के ऊपर किस कर के अपनी स्टाइल में थेंक्स कहा मुझे!

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age


Online porn video at mobile phone


seduce karke chodamaa ki choot storyfull sex storychachi ko pta kar pregnent kixaAntrvasna kamvali letest stordChachi ko hotal ma lajakr chut mariमई रे चोद डाला xxnxmalti ki cut cudae petikot meमजबूरी में बुड्ढे से चुदवाने पड़ामेरी बीवी डॉक्टर से रण्डियों की तरह चुड़ै सेक्स स्टोरी इन हिंदीxxx khani antarvasna salma ammi ko codaबहन कि गाँङ मारी भाई new story maa ki chudaiबुआ की चूत मारी पैर दबाते हुएvillage sex kahaniनई मामी कि रस टपकती चुत कि चुदाई14 साल का भतीजा 30 साल की बूहा को मजे से चोदा हीनदी शेकसी बुआ शेकसी फोटो Xxx बहु बूढा ससूर sexy stroyरक्षाबंधन के दिन बहन का दूध पीकर चुदाई कियाsasur se chudai karwaiAntervasna hindi story चाची को सोये मे गाँङ चोदाpron kahaniसास क्र भोसरे में मेरा मोटा लौरा चाहिएantar vasna ट्रेन में चुढाइराज sharma की गरमा गरम कहानियाantrevasna comhindi antarwasna sali jijachachi ko bus me chodaAntarvasna.com अब्बा ने चुदवाया अम्मी कोकोंडोम से बुर को छोड़ानाजिया आपा की सेक्सी कहानियादीदी आज दे दो चूतरियल मारवाड़ी जीजा साली ओरल सेक्सhindi sexy storeबूढ़ी आंटी को पेशाब करते देखाइंडियन देशी सेक्स कंडोम पहन कहानीwidhva maa ki setting krayi sexstoryBehen ki chudai ka gangbang holi parमुऊ के पास चुतxxxbf ससुरbahu hindi hindiक्सक्सक्स नई हनिमून चुड़ै स्टोरीsasur ne mujhe chodasexstoriaapkhel me mummy ka gangbangमां का पेशाब पिया बेटा सेक्स कहानीmote lund se choda bahurani मैने अपनी चुत चटवा कर चुदवा लियाdesi sex storesasumam or jamai ki chudhai storySadi phenake choda Bhabhi ko stori xxx.co.inrandi ki chut phadiपडोसन ने मुझे मजबुर किया चोदने के लिऐbhabhi ki saheli ki chudaiबहन sex के लिए बोलाsleeper bus me ma ki chudai ki hindi sex storyxxx कहानी ससुर जि का मसाजtrain me chudai hindi storyhindi sex story traindesi gal gand figar hot vedeoHindi 🚌 sexkahaniसलवार सूट मे घोड़ी बनाकर चूदाईhindi suhagraat ki kahanividhwa chachi ki chux se khoon nikla desi sexy storiesgay boy kahanibahu ne sasur se chudwayaMam ko tel laga ke pela storypadosan aunty ko chodabhabi ne dear ko sali se chudatee pakda aur threesome kiya sex storieswww xxx chudai ki dardnak kahanichudai kahaniya gav ki bahurani or betimeri chut maarisexstorixyz.commaa chudi uncle seगाँड़ में लण्ड धक्का बहनfamily sex story in hindimom ne dilwai kamwali ki chuthindi hot kahani chut fatne se bhehos.बुढिया ने मुठ मारीjija saali ki chudai storybahusasursexstoryrandi ki chut phadiमाँ को दादा जी ने मुता २ कर छोडा सेक्स कहानीhindi sex story latestsiser and brother sex story in hindi.antarvasna dhire dhire pleaseneighbour bhabhi se tution padhne ke bahane chidai ki storyvidhwa bua ne nuni ko loda banayabahen ne cut mrwai bhi se khani btaeyxxx कहानी ससुर जि का मसाजगुल गुल चुत चुदाईvidvha unty ko chodai karke tak geya storyबेवा अंजली की hotel me bur छुड़ाई की story हिंदी mechachi ki ladki bathroom me na rahi thi maine use pantie me dheka aur uske boobs ko dabaya aur uska bhai side me us ladki ka nam mangala thachut se khun nikala